અમારા WhatsApp ગ્રૂપમાં જોડાઓ

Join Now

क्या आप भी छाश में नमक डालकर पीते हैं? - शरीर को होगा नुकशान

 Summer (गर्मियां) आते ही ज्यादातर लोग खाने को पचाने के लिए Buttermilk (छाश) या Lassi (लस्सी) पीते हैं। कई घरों में इसे लंच और डिनर के बाद खाते हैं। यह पाचन तंत्र को लाभ पहुंचाता है और शरीर के स्वास्थ्य और मनोदशा में भी सुधार करता है। Chaas (छाश) में मसाले के साथ-साथ Salt (नमक), Mint Chutney (पुदीने की चटनी) और Sanchal (सांचल) या साडू नमक आदि भी मिलाया जाता है। लेकिन कुछ आहार विशेषज्ञ छाश में नमक डालने से मना करते हैं। क्‍योंकि छाश में नमक मिलाकर पीने से पेट की ज्‍यादा समस्‍या हो सकती है और यह सेहत के लिए हानिकारक भी हो सकती है। इसलिए छाश में नमक नहीं डालना चाहिए।



ज्यादातर लोग लंच और डिनर में छाश पीना पसंद करते हैं। गर्मी के मौसम में छाश की मांग काफी बढ़ जाती है, क्योंकि यह गर्मी से राहत दिलाने का काम करती है। पाचन तंत्र को क्रियाशील रखने के लिए आंत में खरबों बैक्टीरिया मौजूद होते हैं। रात को सोते समय ये बैक्टीरिया ऐसे रसायन पैदा करते हैं जो पेट में एसिड बनने से रोकते हैं।

छाश पीने से पाचन तंत्र मजबूत रहता है और शरीर को ऊर्जा भी मिलती है। इसमें कोई शक नहीं है कि छाश कई फायदों से भरी होती है। हालांकि कुछ लोग इसे पीते समय गलती कर बैठते हैं और वह गलती होती है नमक मिलाने की। कई लोग छाश का स्वाद बढ़ाने के लिए उसमें नमक मिलाकर पीते हैं। छाश में नमक मिलाने से पेट में अच्छे बैक्टीरिया पर हमला होता है और पेट की और भी समस्याएं हो सकती हैं।

छाश में नमक मिलाने से सबसे ज्यादा बुरा असर पेट पर पड़ता है। अगर आप छाश में नमक मिलाकर पीते हैं तो आपका पेट फूल सकता है और आपको भरा हुआ महसूस हो सकता है। यही कारण है कि सादा छाश पीने की कोशिश करनी चाहिए। छाश में नमक मिलाने से प्रोबायोटिक्स की गतिविधि और प्रभाव कमजोर हो जाता है। जिससे पेट के अच्छे बैक्टीरिया मरने लगते हैं।

आहार विशेषज्ञ और पोषण विशेषज्ञ किरण कुकरेजा का कहना है कि छाश में नमक मिलाकर पीना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। दरअसल नमकीन छाश पेट पर बुरा असर डालती है। उनके अनुसार, दही आमतौर पर प्रोबायोटिक्स से भरपूर होता है। जो हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। दही के अलावा छाश और इससे बनी लस्सी में भी यह गुण पाया जाता है।

हालांकि, जब छाश में नमक मिलाया जाता है, तो यह Probiotics (प्रोबायोटिक्स) की गतिविधि और प्रभावशीलता को कम कर देता है। इसलिए छाश में नमक मिलाकर सेवन करने से शरीर को ज्यादा फायदा नहीं होता है। White Salt (सफेद नमक) या Sea Salt (समुद्री नमक) को कम मात्रा में मिलाने से छाश में बैक्टीरिया धीरे-धीरे सिकुड़ते हैं और मर भी जाते हैं। इसी वजह से नमक वाली छाश पीने से भी शरीर में पानी का स्तर बनाए रखना मुश्किल हो जाता है और डिहाइड्रेशन की समस्या हो जाती है।

छाश पीने का सही तरीका क्या है?

छाश पीने के सही तरीके में सबसे पहली जरूरी चीज यह है कि छाश कितनी ठंडी होनी चाहिए। ठंडी छाश पीने से ठंडक ज्यादा लगती है और पीने में मजा नहीं आता। आमतौर पर छाश को ठंडा होने दें, लेकिन अगर गर्मी में छाश ज्यादा ठंडी हो तो उसे धीरे-धीरे ठंडा करें। इसके अलावा छाश के साथ कच्ची सब्जियां, सलाद, फल जैसे कुछ खाद्य पदार्थों का सेवन करना अच्छा होता है। छाश के साथ यह भोजन पाचन शक्ति को भी बढ़ाता है और लीवर के लिए फायदेमंद होता है। छाश को धीरे-धीरे पीते समय जल्दबाजी न करें। यह भोजन को पचाने में लगने वाले समय को कम करता है और आपके शरीर को लाभ पहुंचाता है।

(ये आर्टिकल में सामान्य जानकारी आपको दी गई है अगर आपको किसी भी उपाय को apply करना है तो कृपया Expert की सलाह अवश्य लें)

As soon as summer arrives, most people drink buttermilk or lassi to digest food. In many homes it is eaten after lunch and dinner. It benefits the digestive system and also improves body health and mood. Along with spices, salt, mint chutney and Sanchal or sadu salt etc. are also added to Chaas. But some dieticians refuse to add salt to buttermilk. Because drinking buttermilk mixed with salt can cause more stomach problems and can also be harmful for health. Therefore salt should not be added to buttermilk.

Most people like to drink buttermilk in lunch and dinner. The demand for buttermilk increases significantly during the summer season, because it provides relief from the heat. Trillions of bacteria are present in the intestine to keep the digestive system functioning. While sleeping at night, these bacteria produce chemicals that prevent acid formation in the stomach.

Drinking buttermilk keeps the digestive system strong and also provides energy to the body. There is no doubt that buttermilk is full of many benefits. However, some people make a mistake while drinking it and that mistake is of adding salt. Many people drink buttermilk by adding salt to it to enhance its taste. Adding salt to buttermilk attacks the good bacteria in the stomach and can lead to other stomach problems.

Mixing salt in buttermilk has the worst effect on the stomach. If you drink buttermilk mixed with salt, your stomach may swell and you may feel full. This is why one should try to drink plain buttermilk. Adding salt to buttermilk weakens the activity and effect of probiotics. Due to which the good bacteria of the stomach start dying.

Dietitian and nutritionist Kiran Kukreja says that drinking buttermilk mixed with salt is harmful for health. Actually, salty buttermilk has a bad effect on the stomach. According to him, curd is generally rich in probiotics. Which is very beneficial for our body. Apart from curd, this quality is also found in buttermilk and lassi made from it.

However, when salt is added to buttermilk, it reduces the activity and effectiveness of the probiotics. Therefore, consuming buttermilk mixed with salt does not provide much benefit to the body. By adding white salt or sea salt in small quantities, the bacteria in buttermilk gradually shrink and even die. For this reason, even drinking buttermilk with salt makes it difficult to maintain the water level in the body and leads to the problem of dehydration.

What is the correct way to drink buttermilk?

The first important thing in the right way to drink buttermilk is how cold the buttermilk should be. Drinking cold buttermilk makes one feel cold and drinking it is not enjoyable. Generally let the buttermilk cool, but if the buttermilk is too cold in summer then cool it slowly. Apart from this, it is good to consume some food items like raw vegetables, salad, fruits with buttermilk. This food along with buttermilk also increases digestive power and is beneficial for the liver. Do not hurry while drinking the buttermilk slowly. It reduces the time taken to digest food and benefits your body.

(General information has been given to you in this article. If you want to apply any solution, please take expert advice)